लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

Jb Final photo gallery

Sudhanshu Sharma
Updated Wed, 21 Sep 2022 01:38 PM IST
Tesla CEO Elon Musk
1 of 2
विज्ञापन

शशि थरूर और कार्यकारी कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी की सोमवार को मुलाकात हुई। इस मुलाकात के दौरान कांग्रेस के पांच वरिष्ठ नेता और शशि थरूर शामिल थे। सूत्रों का कहना है कि इस दौरान शशि थरूर की सोनिया गांधी से आने वाले दिनों में राष्ट्रीय अध्यक्ष के चुनावों को लेकर चर्चा हुई। पार्टी से जुड़े सूत्रों का कहना है कि शशि थरूर की ओर से चुनाव लड़ने की बात कही गई, तो सोनिया गांधी ने उनका न सिर्फ समर्थन किया, बल्कि उन्होंने यह भी कहा कि पार्टी में लोकतांत्रिक तरीके से चुनाव होंगे। इसके लिए शशि थरूर या कोई भी और प्रत्याशी अपना नामांकन करा सकता है। सूत्रों के मुताबिक सोनिया गांधी ने बैठक में इस बात की तरफ इशारा किया कि आने वाले राष्ट्रीय अध्यक्ष चुनावों में गांधी परिवार से कोई भी चुनावी मैदान में नहीं होगा। हालांकि पार्टी की ओर से इस तरीके का आधिकारिक तौर पर कोई बयान जारी नहीं हुआ है। लेकिन पार्टी से जुड़े सूत्रों का कहना है कि तकरीबन तीन घंटे तक हुई पार्टी के वरिष्ठ नेताओं के बीच में बैठक के बाद यही तय हुआ है।

रूसी समाचार एजेंसी आरटी ने पुतिन के हवाले से यह बात कही। आरटी के अनुसार पुतिन ने कहा है कि पश्चिमी देश रूस को तोड़ने-नष्ट करने का आह्वान कर रहे हैं, लेकिन हमवतन का भविष्य सुरक्षित करने के लिए यह कदम उठा रहे हैं। 

इनकम टैक्स कैलकुलेटर क्या है?

लखनऊ टीम के प्रमोटर ने की सीएम योगी से मुलाकात
2 of 2

शशि थरूर और कार्यकारी कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी की सोमवार को मुलाकात हुई। इस मुलाकात के दौरान कांग्रेस के पांच वरिष्ठ नेता और शशि थरूर शामिल थे। सूत्रों का कहना है कि इस दौरान शशि थरूर की सोनिया गांधी से आने वाले दिनों में राष्ट्रीय अध्यक्ष के चुनावों को लेकर चर्चा हुई। पार्टी से जुड़े सूत्रों का कहना है कि शशि थरूर की ओर से चुनाव लड़ने की बात कही गई, तो सोनिया गांधी ने उनका न सिर्फ समर्थन किया, बल्कि उन्होंने यह भी कहा कि पार्टी में लोकतांत्रिक तरीके से चुनाव होंगे। इसके लिए शशि थरूर या कोई भी और प्रत्याशी अपना नामांकन करा सकता है। सूत्रों के मुताबिक सोनिया गांधी ने बैठक में इस बात की तरफ इशारा किया कि आने वाले राष्ट्रीय अध्यक्ष चुनावों में गांधी परिवार से कोई भी चुनावी मैदान में नहीं होगा। हालांकि पार्टी की ओर से इस तरीके का आधिकारिक तौर पर कोई बयान जारी नहीं हुआ है। लेकिन पार्टी से जुड़े सूत्रों का कहना है कि तकरीबन तीन घंटे तक हुई पार्टी के वरिष्ठ नेताओं के बीच में बैठक के बाद यही तय हुआ है।

रूसी समाचार एजेंसी आरटी ने पुतिन के हवाले से यह बात कही। आरटी के अनुसार पुतिन ने कहा है कि पश्चिमी देश रूस को तोड़ने-नष्ट करने का आह्वान कर रहे हैं, लेकिन हमवतन का भविष्य सुरक्षित करने के लिए यह कदम उठा रहे हैं। 

विज्ञापन
अगली फोटो गैलरी देखें
विज्ञापन

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?

Latest Video

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all Entertainment news in Hindi related to bollywood, television, hollywood, movie reviews, etc. Stay updated with us for all breaking news from Entertainment and more news in Hindi.

विज्ञापन
  • Downloads
    News Stand

Follow Us

  • Facebook Page
  • Twitter Page
  • Youtube Page
  • Instagram Page
  • Telegram
एप में पढ़ें

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00