लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

बीएचयू का 107वां स्थापना दिवस: वसंत पंचमी पर कुलपति ने किया हवन पूजन, बोले- महामना के मूल्यों का अनुसरण कर आगे बढ़ना होगा

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, वाराणसी Published by: गीतार्जुन गौतम Updated Sun, 06 Feb 2022 12:14 AM IST
हवन पूजन में मौजूद कुलपति।
1 of 5
विज्ञापन
बीएचयू में शनिवार को वसंत पंचमी के मौके पर 107वां स्थापना दिवस पर परंपरागत तरीके से मनाया गया। ट्रामा सेंटर परिसर स्थित स्थापना स्थल पर कुलपति प्रो. सुधीर कुमार जैन ने वैदिक मंत्रोच्चार के बीच पुष्पांजलि अर्पित कर हवन, पूजन किया। उन्होंने कहा कि महामना ने जिस सोच, मूल्यों के आधार पर विश्वविद्यालय की स्थापना की, उसका अनुसरण करते हुए ही आगे बढ़ने की जरूरत है।

स्थापना दिवस पर आयोजित कार्यक्रम में कुलपति प्रो. सुधीर कुमार जैन ने कहा कि वसंत पंचमी वैसे तो देश भर के लोगों के लिए एक महत्वपूर्ण पर्व है, लेकिन काशी हिंदू विश्वविद्यालय की स्थापना इसी दिन होने की वजह से ही विश्वविद्यालय परिवार के सदस्यों के लिए इस दिवस का महत्व विशेष रूप से है।

इस बात का जरूर ख्याल रखना चाहिए कि सौ साल से अधिक समय पहले महामना मालवीय ने बिना किसी तकनीक व संसाधनों के ऐसे विशाल संस्थान को खड़ा किया, जिसने एक सशक्त राष्ट्र के निर्माण में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई। इस दौरान कुलपति ने हवनकुंड में आहूति देकर विश्वविद्यालय के निरंतर विकास की कामना की। कार्यक्रम में कुलगुरू प्रो. वी. के. शुक्ला, कुीललसचिव डॉ. नीरज त्रिपाठी, विभिन्न संस्थानों के निदेशक, संकाय प्रमुख, विभागाध्यक्ष, शिक्षक, अधिकारी आदि लोग मौजूद रहे।
बीएचयू स्थापना दिवस पर राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की ओर से निकला पथ संचलन।
2 of 5
आरएसएस स्वयंसेवकों ने किया परिसर में पथ संचलन 
विश्वविद्यालय के स्थापना दिवस पर राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ काशी विभाग के तहत आयोजित कार्यक्रम में स्वयंसेवकों ने पथ संचलन किया। कृषि विज्ञान संकाय के खेल मैदान से सिंह द्वार तक निकले पथ संचलन में संघ का भगवा ध्वज लगाया या। पूरे गणवेश में दंड लेकर स्वयंसेवक घोष वादन की धुन पर चलते रहे। वंदेमारतम के साथ कार्यक्रम का समापन हुआ।

बतौर मुख्य अतिथि पूर्व अपर महासॉलिसीटर अशोक मेहता ने कहा कि भारतीय आध्यात्मिक एवं सांस्कृतिक व्यवस्था को आज स्वीकार्य कर लिया गया और भारत एक विश्व गुरु के साथ-साथ विश्वदृष्टा बनने जा रहा है। मालवीय जी की हार्दिक इच्छा थी कि हर विश्वविद्यालय में विज्ञान एवं तकनीकी विषय का अध्यापन हिन्दी भाषा में हो लेकिन दुर्भाग्य से पिछले 70 वर्षों में ऐसा नहीं हुआ।
विज्ञापन
बीएचयू आचार्य नरेंद्र देव छात्रावास परिसर में स्थापित सरस्वती प्रतिमा वही छात्र पाठ करते हुए।
3 of 5
महामना ने विश्वविद्यालय में आरएसएस के लिए विशेष भवन बनवाया था, जो आपातकाल की भेंट चढ़ गई। कार्यक्रम की अध्यक्षता छात्र अधिष्ठाता केके सिंह ने किया। इस दौरान विभाग संघचालक जयप्रकाश लाल, भाग संघचालक सुनील, नगर संघचालक आरएन चौरसिया, विभाग प्रचारक कृष्णचंद्र आदि मौजूद रहे।
कला प्रदर्शन को देखते कुलपित प्रो सुधीर कुमार जैन।
4 of 5
बीएचयू में एक महीने तक चलने वाली कला प्रदर्शनी का उदघाटन 
बीएचयू के अहिवासी एवं महामना कला दीर्घा में एक महीने तक चलने वाली कला प्रदर्शनी दृश्य काशी का शनिवार को कुलपति ने उदघाटन किया। इस दौरान कुलपति ने प्रदर्शनी में लगे चित्रों का अवलोकन करने के बाद उनके प्रतिभा की सराहना की। उन्होंने छात्रों को कला परामर्श के रुप में काम करने, लोगों को जागरूक करते रहने के साथ ही विभिन्न संकायों के साथ संबंधों को प्रगाढ़ बनाए जाने का आह्वान किया।
विज्ञापन
विज्ञापन
काशी हिंदू विश्वविद्यालय
5 of 5
अतिथियों का स्वागत करते हुए संकाय प्रमुख ने बताया कि पांच मार्च तक सुबह 11 बजे से शाम 4 बजे तक प्रदर्शनी जन सामान्य के लिए खुली रहेगी। प्रदर्शनी के क्यूरेटर कला इतिहास विभाग के प्रोफेसर प्रदोष मिश्रा ने प्रदर्शनी में लगी कलाकृतियों के बारे में विस्तार से बताया। कार्यक्रम का संचालन डॉक्टर मनीष अरोड़ा ने किया।
विज्ञापन
अगली फोटो गैलरी देखें
विज्ञापन

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?

Latest Video

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
Election
  • Downloads
    News Stand

Follow Us

  • Facebook Page
  • Twitter Page
  • Youtube Page
  • Instagram Page
  • Telegram
एप में पढ़ें

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00