लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

विज्ञापन
Hindi News ›   Technology ›   Tech Diary ›   Metaverse: Data usage will increase 20 times in 10 years, huge impact and tremendous growth Will be seen in gaming industry in India

बदलाव : मेटावर्स 10 साल में 20 गुना बढ़ा देगा डाटा का इस्तेमाल, भारत में इस उद्योग की बदल जाएगी दशा-दिशा

एजेंसी, नई दिल्ली। Published by: योगेश साहू Updated Sat, 19 Feb 2022 04:40 AM IST
सार

भारत समेत दुनियाभर के देशों में इंटरनेट ट्रैफिक का प्रवाह पहले से ही वीडियो में 80 फीसदी है, जो 30 फीसदी की सालाना दर से बढ़ रहा है। हमारा अनुमान है कि मामूली मेटावर्स का इस्तेमाल भी अगले 10 साल में डाटा इस्तेमाल को 20 गुना तक बढ़ा सकता है। इससे सबसे ज्यादा लाभ दूरसंचार कंपनियों को होगा।

मेटावर्स टेक्नोलॉजी क्या है?
मेटावर्स टेक्नोलॉजी क्या है? - फोटो : Istock

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

ख़बर सुनें

विस्तार

डिजिटलीकरण से दुनियाभर में तेजी से बदलाव हो रहा है, जिसमें मेटावर्स की भूमिका बढ़ रही है। मेटावर्स की वजह से डिजिटल पारिस्थितिकी तंत्र में तेज बदलाव के कारण 2032 तक यानी अगले 10 साल में दुनियाभर में डाटा का इस्तेमाल 20 गुना तक बढ़ जाएगा।



क्रेडिट सुइस ने एक रिपोर्ट में कहा कि मेटावर्स में स्मार्टफोन, टेलीविजन या वीडियो गेम कंसोल जैसे उपकरणों के इस्तेमाल में लगने वाला समय और बैंडविड्थ (डाटा स्थानांतरण की अधिकतम दर) की खपत बढ़ाने की काफी संभावनाएं हैं।


इंटरनेट ट्रैफिक का प्रवाह पहले से ही वीडियो में 80 फीसदी है, जो 30 फीसदी की सालाना दर से बढ़ रहा है। हमारा अनुमान है कि मामूली मेटावर्स का इस्तेमाल भी अगले 10 साल में डाटा इस्तेमाल को 20 गुना तक बढ़ा सकता है। इससे सबसे ज्यादा लाभ दूरसंचार कंपनी रिलायंस जियो और एयरटेल को होगा। 

5जी से मिलेगी मदद
रिपोर्ट में कहा गया है कि भारत में जब 5जी सेवाओं को लॉन्च किया जाएगा तो इससे मेटावर्स को काफी मदद मिलेगी। 6जी आने के बाद इसमें और तेजी आएगी। इसमें कहा गया है कि मेटावर्स का शुरुआती दिनों में सबसे ज्यादा असर गेमिंग उद्योग पर दिख सकता है। भारत में गेमिंग अभी शुरुआती चरण में है, जिसमें मेटावर्स के बाद बेतहाशा बढ़ोतरी की उम्मीद है। 

बढ़ जाएगा स्क्रीन टाइम
भारत हर दिन मोबाइल पर ज्यादा समय बिताने वाले देशों में शामिल है। मेटावर्स के आने के बाद भारतीय की स्क्रीन टाइम पहले से ज्यादा बढ़ जाएगी। इसका असर दूरसंचार कंपनियों की कमाई पर भी पड़ेगा।  इससे जियो और भारती एयरटेल (17 फीसदी कमाई फिक्स्ड लाइन से) को सबसे ज्यादा लाभ होगा। 

फिक्स्ड ब्रॉडबैंड उपभोक्ता में इजाफा
भारत में फिक्स्ड ब्रॉडबैंड का इस्तेमाल करने वाले तेजी से बढ़ रहे हैं। 2019-20 में फिक्स्ड ब्रॉडबैंड उपभोक्ता 6.8 फीसदी थे, 2021-22 में बढ़कर 9 फीसदी तक पहुंच जाएगी। 2024-25 तक यह आंकड़ा 12.60 फीसदी के पार पहुंच जाएगा।

क्या है मेटावर्स
  • यह एक थ्री डी वर्चुअल रियलिटी है। यह ऑग्युमेंटड रियलिटी और वर्चुअल रियलिटी पर आधारित है। 
  • इस तकनीक की मदद से कोई व्यक्ति पूरी तरह वर्चुअल दुनिया में प्रवेश कर सकता है और उसे वर्चुअल दुनिया ही सच लगने लगती है। 
  • मेटावर्स की मदद से वर्चुअल दुनिया में वह सबकुछ अनुभव कर सकते हैं, जिसे आप सच में करना चाहते हैं।
  • इसकी मदद से वर्चुअल दुनिया में आप अपने दोस्त के साथ चाय-कॉफी पी सकते हैं, जो आपसे हजारों किलोमीटर दूर हैं। 
  • इसे सोशल मीडिया का भविष्य कहा जाता है। पिछले दिनों फेसबुक ने अपना नाम बदलकर मेटा रखा है। 
विज्ञापन

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन

Latest Video

विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News App अपने मोबाइल पे|
Get all Tech News in Hindi related to live news update of latest mobile reviews apps, tablets etc. Stay updated with us for all breaking news from Tech and more Hindi News.

विज्ञापन
विज्ञापन
  • Downloads
    News Stand

Follow Us

  • Facebook Page
  • Twitter Page
  • Youtube Page
  • Instagram Page
  • Telegram
एप में पढ़ें
जानिए अपना दैनिक राशिफल बेहतर अनुभव के साथ सिर्फ अमर उजाला एप पर
अभी नहीं

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00