बेहतर अनुभव के लिए एप चुनें।
INSTALL APP
विज्ञापन
Home ›   Video ›   India News ›   test Uttarakhand News today: bjp chintan shivir for mission 2022 in ramnagar second day today

test उत्तराखंड : भाजपा के चिंतन शिविर के दूसरे दिन का कार्यक्रम जारी, प्रदेश की राजनीतिक परिस्थितियों पर होगी बात

Ravi Prakash Ravi Prakash
Updated Thu, 30 Sep 2021 03:02 PM IST

भाजपा के चिंतन शिविर के दूसरे दिन का कार्यक्रम जारी है। सोमवार को बैठक स्थल पर पूर्व सीएम विजय बहुगुणा, त्रिवेंद्र सिंह रावत, मंत्री धन सिंह सहित तमाम नेता बैठक में पहुंचे हैं। बारिश की वजह से आज थोड़ा विलंब हुआ है। पहले सत्र में प्रदेश की राजनीतिक परिस्थितियों पर चर्चा हुई। आमंत्रित लोगों से भी सुझाव मांगे गए।

रामनगर भाजपा चिंतन शिविर के दूसरे दिन का प्रथम सत्र सुबह 9:15 बजे शुरू हुआ जो 10.45 तक चला। दूसरा सत्र सुबह 11 बजे से शुरू होकर सवा 12 बजे तक चला। जिसमें विभिन्न राजनीतिक गतिविधियों, ताकत व कमजोरी पर बात हुई।

तीसरा सत्र दोपहर 3 बजे से सवा 4 बजे तक चला। इस सत्र में 2022 के रोडमैप पर चर्चा हुई। चौथा सत्र सवा पांच बजे शुरू होकर साढ़े 6 तक चलेगा। जिसमे रोडमैप पर सदस्यगणों के सुझाव व चर्चा होगी। पांचवा सत्र शाम 7 बजे से शुरू जोकर सवा आठ बजे तक चलेगा। जिसमे सरकार की जनकल्याण योजनाओं पर चर्चा होगी।

एकजुटता, अनुशासन और जनता के बीच जाने का संकल्प
वहीं भाजपा के चिंतन शिविर का पहला दिन प्रदेश की सत्ता पर दोबारा काबिज होने पर फोकस रहा। प्रदेश प्रभारी दुष्यंत कुमार गौतम ने सीधा संदेश दिया कि सभी को एकजुटता से कार्य करना है। धरातल पर संगठन को मजबूत करने के साथ ही सरकार की योजनाओं को जनता तक पहुंचाना है। प्रदेश अध्यक्ष मदन कौशिक ने विभिन्न सत्रों में रखे जाने वाले बिंदुओं की जानकारी रखी।
 
भाजपा के चिंतन शिविर का मकसद आगामी विधानसभा चुनाव में जीत दर्ज करने के लिए सधी हुई रणनीति तैयार कर उस पर अनुशासित तरीके से चलना है। चुनावी साल में मुख्यमंत्री का चेहरा बदलने के बाद परिस्थितियां बदल गई हैं। हालिया मंत्रियों और नेताओं के बीच जुबानी जंग के साथ ही कई जगहों पर गुटबाजी भी बढ़ी है। विधानसभा चुनाव नजदीक आने पर सरकार पर विपक्षी पार्टियों के हमले भी तेज हो गए हैं।

कुंभ में हुई फर्जी टेस्टिंग मामले में विपक्ष मुखर है, वहीं खराब स्वास्थ्य सेवाओं को लेकर कोर्ट भी तल्ख है। ऐसे हालातों से जूझते हुए अनुशासन, एकजुटता के साथ संगठन को धारदार बनाने की कोशिश हो रही है ताकि विपक्षी पार्टियों के आरोप प्रत्यारोपों का आक्रामक ढंग से जवाब दिया जा सके। इन कोशिशों को अमली जामा पहनाने के लिए चिंतन शिविर में मंथन होगा। 

रविवार को उद्घाटन सत्र में प्रदेश प्रभारी ने संबोधन में संगठन में सभी को साथ लेकर चलने की बात कही। कहा कि सभी लोग आपस में समन्वय बनाकर कार्य करें। सरकार के माध्यम से ही समाज की सेवा करते हैं। सरकार के कार्यों को जनता के बीच ले जाएं। प्रदेश अध्यक्ष ने सोमवार को होने वाले सत्रों की जानकारी दी। कहा कि चिंतन शिविर में भाग लेने के दौरान अनुशासन का ख्याल रखा जाए। अगर कोई कार्यकर्ता या समर्थक मिलना चाहता है तो उसे चिंतन शिविर के समापन के बाद का समय दें।

विज्ञापन
Election

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00